Home / National / डीएम ने जब कोविड अस्पतालों पर सख्त रुख अपनाया तो खाली बेडों को लेकर बड़ी सच्चाई सामने

डीएम ने जब कोविड अस्पतालों पर सख्त रुख अपनाया तो खाली बेडों को लेकर बड़ी सच्चाई सामने

कोरोना महामारी के संकटकाल के बीच अस्पतालों में जगह न मिलने की खबरें जहाँ लगातार चर्चाओं में बनी हुई हैं, वहीं आगरा से एक हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, तमाम शिकायतों के बाद यहाँ डीएम ने जब कोविड अस्पतालों पर सख्त रुख अपनाया तो खाली बेडों को लेकर बड़ी सच्चाई सामने आई है।

रिपोर्ट के अनुसार, डीएम के एक्शन में आने के बाद एक-एक अस्पताल का ब्यौरा जाँचा गया, तो महज 24 घंटे में पता चला कि कोविड अस्पतालों में 969 बेड रिक्त पड़े हैं। इनमें 147 वेंटीलेटर और 247 ICU वाले बेड हैं। बताया जा रहा है की इनमे से कुछ अस्पतालों पर नो बेड के नोटिस भी लगे हुए थे। दरअसल, कुछ दिनों पहले आगरा के जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने तमाम कोविड अस्पतालों को खाली बेड की सूचना सार्वजनिक करने और भर्ती मरीजों से शासनादेश में निर्धारित इलाज खर्च लेने के आदेश दिए थे। मगर फिर भी कई मरीजों के बेड के लिए भटकने की खबर सामने आ रही थी। बुधवार को इसी सूचना पर जिलाधिकारी ने एक्शन लिया और एक-एक अस्पताल का ब्यौरा जांचा।

इस दौरान डीएम को कोविड अस्पतालों में 969 रिक्त बेड मिले, जिनके संबंध में अस्पतालों ने कोई सार्वजनिक जानकारी नहीं दी थी। जिलाधिकारी ने रिकॉर्ड जाँचने के बाद अस्पताल संचालकों को लताड़ लगाई और केस दर्ज करवाने की चेतावनी दी। इसके साथ ही 1 घंटे के भीतर ICU, वेंटीलेटर, ऑक्सीजन व आइसोलेशन वार्ड में रिक्त बेड का ब्योरा कंट्रोल रूम पर दर्ज करते हुए इनके संबंध में नोटिस चिपकाने को कहा।

About News Desk

Check Also

लखीमपुर खीरी मामले में  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से की किसानों को न्याय दिलाने की मांग*

  *लखीमपुर खीरी मामले में  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से की किसानों को न्याय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *