Breaking News

इस साल भी जगन्नाथ रथ यात्रा पर जारी रहेगी पाबन्दी…

कोरोना महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए ओडिशा सरकार ने भगवान जगन्नाथ के प्रमुख निवास पुरी को छोड़कर राज्य के तमाम स्थानों पर रथ यात्रा उत्सव पर बैन लगा दिया है। ओडिशा विशेष राहत आयुक्त प्रदीप के जेना ने कहा कि 12 जुलाई से आरंभ होने वाली पुरी रथ यात्रा को भक्तों के बगैर सिर्फ सेवकों के साथ आयोजित किया जाएगा। रथ यात्रा के संचालन के लिए गत वर्ष सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी किए गए दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाएगा।

पुरी में बहन सुभद्रा और भाई बलराम के साथ निकली भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा -  jagannath puri rathyatra latest update ahmedabad rathyatra temple - AajTak

ओडिशा विशेष राहत आयुक्त ने कहा कि, ओडिशा सरकार ने सदैव जनता की सुरक्षा और भलाई को सर्वोच्च महत्व दिया है। चूंकि यह ओडिशा और बाहर काफी धूमधाम से मनाया जाने वाला एक सामूहिक त्योहार है, इसलिए उत्सव में सार्वजनिक भागीदारी पर पाबन्दी लगाया जाना जरुरी है। सिर्फ कोविड की निगेटिव रिपोर्ट के साथ पूरी तरह से टीकाकृत सेवकों को ही अनुष्ठानों में हिस्सा लेने की इजाजत दी जाएगी।

Puri Rath Yatra: कोरोना के कारण बिना भक्तों के निकाली जाएगी पुरी रथयात्रा,  लगेगा कर्फ्यू - The Vocal News Hindi

सर्वोच्च न्यायालय ने 18 जून 2020 को कोरोना वायरस महामारी के मद्देनज़र एहतियात के तौर पर रथ यात्रा पर रोक लगा दी थी। शीर्ष अदालत ने 11 दिशानिर्देश जारी किए थे, जिसमें कर्फ्यू भी शामिल था। ओडिशा सरकार ने कहा था कि सार्वजनिक उपस्थिति के बगैर उत्सव का संचालन संभव है, जिसके बाद अदालत ने रथ यात्रा निकाले जाने को लेकर रास्ता साफ कर दिया था। न्यायालय ने पुरी में प्रवेश मार्गो को बंद करने और राज्य सरकार को कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया था

About News Desk

Check Also

27 नवंबर, 2023 के समापन दिवस पर, ऐतिहासिक 42वें पर पर्दा गिर गया भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का संस्करण। इस उल्लेखनीय को मनाने के लिए कार्यक्रम में समापन समारोह आयोजित किया गया।

आईआईटीएफ 2023 पर पर्दा हटाया गया – जारी रखने के वादे के साथ उत्कृष्टता 27 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *