Breaking News
Home / Madhya Pradesh / अब सिर्फ वैक्सीनेशन कराने वाले श्रद्धालु ही कर पायेंगे अचलेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन

अब सिर्फ वैक्सीनेशन कराने वाले श्रद्धालु ही कर पायेंगे अचलेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन

कोरोना वायरस का कहर इन दिनों कम हो चला है और इसकी एक वजह वैक्सीनेशन भी है। बता दें कि हर राज्य की सरकार वैक्सीनेशन को बढ़ावा दे रही है। केवल यही नहीं बल्कि कई राज्यों में वैक्सीनेश के बाद ही वर्करों को काम करने की इजाजत दी है। इसके अलावा भगवान के दर्शन के लिए भी कोरोना वैक्सीन जरूरी है। जी हां, हाल ही में मिली जानकारी के तहत ग्वालियर के अचलेश्वर महादेव का दर्शन सिर्फ वही भक्त कर सकेंगे जिन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन करा रखा है। यह फैसला मंदिर न्यास ने किया है। उनके अनुसार वैक्सीनेशन कराने वाले भक्तों को ही प्रवेश मिलेगा।

Achaleshwar Mahadev Temple In Gwalior - एक लाख दीपों से होगी प्रदेश के इस मंदिर में पूजा अर्चना,यह है मंदिर की खासियत | Patrika News

आप सभी को बता दें कि मंदिर न्यास की तरफ से जगह-जगह टीकाकरण की अपील के पोस्टर लगाए गए हैं। लगाए गए बैनर पर भक्तों के लिए लिखा गया है कि, “बिना वैक्सीन मंदिर में प्रवेश न करें। वैक्सीन आपके जीवन का कवच है।” वहीँ अचलेश्वर महादेव मंदिर के बारे में बात करें तो इसमें भक्त गर्भगृह तक नहीं जा सकते। यहाँ पाइप के जरिए भक्त महादेव का अभिषेक कर रहे हैं। जी दरअसल यहां सिर्फ वैक्सीनेशन वाले भक्त ही आ रहे हैं, ताकि गाइडलाइन के हिसाब से भीड़ को कंट्रोल किया जा सके।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में बीते मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 38 नए मामले सामने आए और इसी के साथ ही प्रदेश में इस वायरस से अब तक संक्रमित पाए गए लोगों की कुल संख्या 7,89,771 तक पहुंच चुकी है। इस बारे में एक अधिकारी ने यह भी बताया कि, ”प्रदेश में कुल 7,89,771 संक्रमितों में से अब तक 7,80,187 मरीज स्वस्थ हो गये हैं और 630 मरीजों का इलाज चल रहा है।” इसके अलावा उन्होंने कहा, ‘मंगलवार को कोविड-19 के 86 रोगी स्वस्थ हुए हैं।’

About News Desk

Check Also

दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में महर्षि श्री मुरलीधर व्यास जी के सानिध्य में “राष्ट्रीय कामधेनु गौकथा महोत्सव 2022” का आयोजन किया गया

दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में महर्षि श्री मुरलीधर व्यास जी के सानिध्य में “राष्ट्रीय कामधेनु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *