Home / Maharashtra / महाराष्ट्र में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जैसा कर्फ्यू

महाराष्ट्र में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जैसा कर्फ्यू

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर बहुत तेजी से बढ़ रहा है। इस बीच राज्य सरकार ने बीते कल ही रात आठ बजे से 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जैसा कर्फ्यू लगा डाला है। ऐसा इसलिए क्योंकि महाराष्ट्र में कोरोना के मामले तेजी के साथ बढ़ रहे हैं और इन्ही पर लगाम लगाने के लिए प्रयास जारी है। अब हाल ही में राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों और कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर MNS के अध्यक्ष राज ठाकरे ने पीएम मोदी को एक पत्र लिखा है। उन्होंने अपने पत्र में प्रधानमंत्री से महाराष्ट्र को स्वतंत्र रूप से वैक्सीन खरीदने की छूट देने के साथ ही और कई मांगे की है। जी दरअसल राज ठाकरे ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में पांच मांगे की हैं।

इसमें पहली मांग में राज ठाकरे ने लिखा है, महाराष्ट्र को स्वतंत्र रूप से कोरोना वैक्सीन खरीदने की अनुमति दी जाए। इसी के साथ दूसरी मांग में लिखा गया है ‘राज्य में निजी संस्थानों को भी कोरोना वैक्सीन खरीदने की अनुमति मिले।’ वहीं अपनी तीसरी मांग में उन्होंने लिखा है, ‘सिरम इंस्टीट्यूट को महाराष्ट्र में मुक्त रूप से लेकिन योग्य नियमन के जरिए कोरोना वैक्सीन की बिक्री की मंजूरी दी जाए।’ इसके अलावा चौथी मांग में उन्होंने लिखा है, ‘कोरोना वैक्सीन समय पर लोगों को उपलब्ध हो सके इसलिए दूसरे संस्थानों को भी इस वैक्सीन के उत्पादन की अनुमति दी जाए।’ वहीं अंत में पांचवी मांग में उन्होंने लिखा है, ‘कोरोना मरीजों के उपचार में आवश्यक रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की आपूर्ति राज्य कर सके इसके लिए भी जरूरी अनुमति मिले।’

आगे राज ठाकरे ने यह भी लिखा है कि, ‘अब कोरोनावायरस की नई लहर को भी रोकने के लिए बार-बार कड़े नियम और आंशिक लॉकडाउन जैसे कदम उठाने पड़ रहे हैं। जो महाराष्ट्र के लिए कतई उपयोगी नहीं है। जिस राज्य को पर्याप्त मात्रा में कोरोना की वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं हो रही है। उनके पास लॉकडाउन के अलावा दूसरा कोई विकल्प क्या बचता है।’

About News Desk

Check Also

लखीमपुर खीरी मामले में  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से की किसानों को न्याय दिलाने की मांग*

  *लखीमपुर खीरी मामले में  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से की किसानों को न्याय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *