Home / Breaking News / मध्यप्रदेश फर्जी मैसेज फैलाने के मामले में नंबर-1

मध्यप्रदेश फर्जी मैसेज फैलाने के मामले में नंबर-1

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो यानि एनसीआरबी ने देशभर में अपराध की घटनाओं की रिपोर्ट जारी की है। एनसीआरबी ने यह रिपोर्ट एक साल की देरी से जारी की है। रिपोर्ट में 2017 के आंकड़े जारी किए गए हैं। इस रिपोर्ट में लगभग हर श्रेणी के अपराधों के आंकड़े दिए गए हैं। रिपोर्ट की खास बात यह है कि इस बार भ्रामक (फर्जी) खबर को भी अपराध की श्रेणी में रखा गया है। आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार इसमें 257 मामले दर्ज किए गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश फर्जी संदेश फैलाने के मामले में पहले नंबर पर रहा। यहां 138 मामले रिपोर्ट हुए।

32 मामलों के साथ यूपी दूसरे और 18 के साथ केरल तीसरे स्थान पर रहा। जम्मू कश्मीर में फर्जी खबर के केवल चार मामले दर्ज हुए। यह पहली बार है जब सरकार ने भारतीय दंड संहिता की धारा 505 के तहत ऐसे अपराधों पर डाटा संकलित किया है। आईटी अधिनियम के साथ धारा 505 के तहत अपराध दर्ज किए गए थे। 11 राज्यों में झूठी खबरों/ अफवाहों की कोई घटना दर्ज नहीं हुई। जिसमें झारखंड और हरियाणा शामिल है। यहां बच्चा चोरी, पशु तस्करी आदि के मामले में कई लोगों की जान चली गई है। बता दें कि विपक्ष की भारी आलोचना के बाद सरकार ने चुनाव के तुरंत बाद यह आंकड़े जारी किए हैं।

About News Desk

Check Also

गिरफ्तार होने वाली पहली बैंक अधिकारी 400 करोड़ रुपये लोन घोटाले में PNB की बर्खास्त मैनेजर प्रियदर्शिनी अरेस्ट,

गिरफ्तार होने वाली पहली बैंक अधिकारी 400 करोड़ रुपये लोन घोटाले में PNB की बर्खास्त …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *