Breaking News
Home / Business / एयर इंडिया के लिए राहत भरी खबर, सरकारी तेल कंपनियों ने बदला फैसला, नहीं रूकेगी तेल सप्लाई..

एयर इंडिया के लिए राहत भरी खबर, सरकारी तेल कंपनियों ने बदला फैसला, नहीं रूकेगी तेल सप्लाई..

भारी नकदी संकट का सामना कर रही सरकारी क्षेत्र की विमानन कंपनी एयर इंडिया को बड़ी राहत भरी खबर मिली है। कुछ दिनों पहले सरकारी तेल कंपनियों ने विमानन कंपनी को तेल सप्लाई रोकने का निर्णय लिया था। हालांकि अब तेल कंपनियों ने अपने इस फैसले पर फिर से विचार किया है। तीनों सरकारी तेल कंपनियां इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन,हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन और भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन ने एयर इंडिया के पेमेंट नहीं करने पर तेल सप्लाई रोकने के फैसले को आगे के लिए टाल दिया है।

दरअसल, भुगतान न करने पर इस महीने की शुरुआत में तेल कंपनियों ने एयर इंडिया को छह प्रमुख हवाई अड्डों पर विमानन ईंधन की आपूर्ति रोकने की धमकी दी थी। खबर के अनुसार, एयर इंडिया के लिखित में यह अनुरोध करने के बाद कि वह ईंधन के बकाये का भुगतान लगातार करता रहेगा और धीरे-धीरे करके वह ईंधन कंपनियों का पांच हजार करोड़ रुपये का भुगतान कर देगा, इसके बाद तेल कंपनियों ने अपने फैसले को आगे के लिए टाल दिया है। फिलहाल ईंधन कंपनियों के इस कदम से एयर इंडिया के लिए राहत की खबर है।

एयर इंडिया पर तीन प्रमुख सरकारी तेल कंपनियों का 5,000 करोड़ रुपये का ईंधन भुगतान बकाया है, कंपनी ने इन राशियों के भुगतान का वादा किया था। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के वित्त निदेशक संदीप कुमार गुप्ता ने बीते दिनों कहा था कि एयर इंडिया ने जून और सितंबर दोनों बार तीनों कंपनियों को हर माह 100 करोड़ रुपये का भुगतान करने का वादा किया था, ताकि उसके ऊपर 5,000 करोड़ रुपये के बकाये का निपटान हो सके। मगर कंपनी ने ऐसा नहीं किया। कुल 5,000 करोड़ रुपये के बकाए में 2,700 करोड़ रुपये इंडियन ऑयल के हैं। इसमें 450 करोड़ रुपये का ब्याज शामिल है। अगस्त के अंत में तीनों तेल कंपनियों ने भुगतान में चूक की वजह से एयर इंडिया को छह एयरपोर्ट पर तेल सप्लाई रोक दी थी।

About News Desk

Check Also

दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में महर्षि श्री मुरलीधर व्यास जी के सानिध्य में “राष्ट्रीय कामधेनु गौकथा महोत्सव 2022” का आयोजन किया गया

दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में महर्षि श्री मुरलीधर व्यास जी के सानिध्य में “राष्ट्रीय कामधेनु …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *